Search Results for: रानी सती दादी भजन

jhunjhnu me ghunghto na jaau kaad ke

झुंझनु में घुंघटो ना जाऊ काड केमेरी दादी ने रिजा सु महे को नाच नाच से झुंझुन में जावन के ताई अर्जी सो सो वार लगाई,तब जा कर माहरी दादी जी की झुंझुन से चिठ्ठी है आईकितनी दूर से मैं आई चाल केमेरी दादी ने रिजा सु महे को नाच नाच से घूँघटियों आड़े आ …

jhunjhnu me ghunghto na jaau kaad ke Read More »

daadi thaaro mukhdo chaand ko tukdo

दादी थारो मुखडो चाँद को टुकड़ो जाको कोई न जवाब रे,आंख्या काजल कारो लागे घणो प्यारो थारो रूप लाजवाब रे,लूँ राई वारा नजर उतारा,चाँद तारा छोड़ मैं तो थाने ही निहारा,लूँ राई वारा नजर उतारा, रात चांदनी यु चम चम चमके माथे वाली बिंदियां,मनमोहन मुस्कान थारी ले गई मोरी निन्दियाँ,तन मन वारु तोहे मैं निहारु …

daadi thaaro mukhdo chaand ko tukdo Read More »

lekar chunadi hatha me tera sewak naache re

लेकर चुंनड़ी हाथां म तेरा सेवक नाचे रे,जगत सेठानी का जगत में डंका भाजे रे,लेकर चुंनड़ी हाथां म तेरा सेवक नाचे रे म्हारा दादी जी को खूब स्झो है शृंगार,भगता ने निरख रही या बाँट रही है प्यार, दादी को शृंगार यो प्यारो म्हाने बहुत लुभावे से,झूम झूम कर सेवक नाचे थारे आगे रे,लेकर चुंनड़ी …

lekar chunadi hatha me tera sewak naache re Read More »

ohd chunariyan lal bethi hai dadi sajdhaj ke

ओड चुनरियाँ लाल बैठी है दादी सझधज के,देखलो दादी को दरबार बैठी है दादी सझधज के बिंदियां को रंग लाल तिहारो आखियाँ को काजल है कालो,मुख पे है तेज अपार बैठी है दादी सझधज के गालो पर है लट गुंगराली,कानो में है झुमका बाली,गल विच फुला और हार,बैठी है दादी सझधज के हाथा की या …

ohd chunariyan lal bethi hai dadi sajdhaj ke Read More »

teeja ke sindhaare me main dadi ne bhulawanga

तीजया के सिंधारे में मैं दादी ने बुलावांगा,मैया जी का रल मिल के लाड लड़ावा गा पहलया तो चन्दन सो मह चौक पुरासाया जी,आंगन में केसरियां अंतर छड़का जा सी,चांदी ने चोंकि पर दादी ने बिठावा गा,तीजया के सिंधारे में मैं दादी ने बुलावांगा पाछे में फुलारा सोहना हार बना छा जी,चाँदी की थाली में …

teeja ke sindhaare me main dadi ne bhulawanga Read More »