khuli rakhi mein neena wali baari udeek mainu tere aaundi

खुली राखी मैं नीना वाली बारी उडीक मेनू तेरे औन दी,
साड़ी वध गई माँ बेकरारी उडीक मेनू तेरे औन दी,

तेरे ही ख्याल मैया तेरा ही ध्यान माँ,
तुही मेरी जींद माये तू ही मेरी जान है,
तुही माये मेरे लेखा दी लिखारी,
उडीक मेनू तेरे औन दी……

जन्मा तो आस माँ लगाईं झंडेवालिये,
झली नहियो जांदी एहे जुदाई मेहरा वालिये,
आजा करके माँ शेर दी सवारी
उडीक मेनू तेरे ऑन दी,

सुनिया माइये तू ते जग सारा ताराया,
पल विच दोरही आई जदो वी पुकाराया,
कदों आये गी माँ चंचल दी वारी,
उडीक मेनू तेरे औन दी

खुली रखी मैं नैना वाली बारी उडीक मेनू तेरे ओउन दी,

Leave a Comment