भोले बाबा से मिलना असान नही
थोडा कष्ट उठाना पड़ता है

कभी गाड़ी से कभी घोड़े से
कभी से पेदल चलना पड़ता है
भोले…….

कभी गर्मी में कभी सर्दी में
कभी वर्षा में चलना पड़ता है
भोले…….

कभी नदियो से कभी झरनो से
कभी बर्फ में चलना पड़ता है
भोले………

कभी भगती से कभी कावड से
कभी घोड़े से चलना पड़ता है
भोले……….

जब बाबा दर्शन देते है
सारे कष्टो हो वो हरलेते है
भोले……….

Leave a Reply