ye duniya saari nashvar hai yaha se sabko jana hai

ये दुनिया ये दुनिया,
ये दुनिया सारी नशवर है यहाँ से सबको जाना है,
रिश्ते नाते सब छूटे इक साई नाम सुहाना है,
ये दुनिया सारी नशवर है यहाँ से सबको जाना है,

क्यों देख देख के दर्पण में क्यों इतना इतराये तू,
राग बने गई इक दिन काया चाहे लाख सवारे तू,
जो आया है वो जाएगा पल भर का नहीं ठिकाना,
ये दुनिया सारी नशवर है यहाँ से सबको जाना है,

ये दौलत ये शानो शोकथ सब मिट जायेगी इक पल में,
तू करले कर्म तू करले भरम बस यही रहे गा इस जग में,
जो बोये गा वही पायेगा यही दस्तूर पुराना है,
ये दुनिया सारी नशवर है यहाँ से सबको जाना है,

ये दुनिया सारी नशवर है

Leave a Comment