ठंडी ठंडी चले रे पवन मई की मडुलियाँ में,

कौन लाल लाये माई लाल चुनरियाँ,
कौना फैलाये दामन मई की मडुलियाँ में,

राजा ले आये माई लाल चुनरियाँ ,
सुतरानी फैलाये दामन मई की मडुलियाँ में,

कौन ना बने मड़ियाँ रखवाले,
सु कोना लाये री पवन मई की मडुलियाँ में,

पंडा बने मड़ियाँ रखवारे,
तन मन लाये री पवन मई की मडुलियाँ में,

Leave a Reply