तेरे दर पे आये है,साईं जी साईं जी,
फूल संग में लाये है साईं जी साईं जी,
कुछ सुनाने आये है गीत गाने आये है,
अपने दिल का किस्सा बताने आये है,
तेरे दर पे आये है….

भीड़ लाखो की है तूने मुझको चुना,
इस भरी भीड़ में तुमने मुझको सुना,
मेरे कं कं में तुम हो दिखने आये है,
तेरे दर पे आये है…….

अपने दीवाने को तुमने मौका दिया,
कभी सोचा ना था साईं ये ना किया,
कितनी चाहत है तुमसे जताने आये है,
तेरे दर पे आये है……..

मेरे दिल में रहो धड़कन में रहो,
जब ये जान निकले तुम पास रहो,
अपनी सांसो में तुम को समाने आये है,.
तेरे दर पे आये है

Leave a Reply