ताती वाओ ना लगई पार बह्म शरणाई,
चौ गिर्द हमारे राम का दुख लगे ना भाई,

सतगुरु पूरा पेटेया, जिन बढत बड़ाई,
राम नाम औ-खद दिया, ए का लिव लाई,
तात्ति वाओ ना लगई पार् बह्म……

राख लिए तीन रखनहार, सब ब्याध मिटाई,
कहो नानक किरपा पई,प्रभ पै सहाई,
तात्ति वाओ ना लगई……..

Leave a Reply