तारो मैं चन्द्र सामान हो,
गुरुदेव तुम्हारी जय होवे,
हम सब के जीवन प्राण हो,
गुरुदेव तुम्हारी जय होवे,

मुद्दत सी थी तलाश मुझे,
गुरु मिल गए आप से आप मुझे,
सेवा में लगा लो नाथ मुझे,
गुरुदेव तुम्हारी जय होवे,

एक अरज़ मेरी मंजूर करो,
अब नाथ मेरी एक टेर सुनो,
मेरे दिल का अँधेरा दूर करो,
गुरुदेव तुम्हारी जय होवे,

ये दासी नाथ पुकार रही,
चरणो मैं शीश नवाए रही ,
दे दलो चरनो की भक्ति मुझे,
गुरुदेव तुम्हारी जय होवे,

तारो मैं चन्द्र सामान हो

Leave a Reply