सुना के अपनी मुरलियां काहा गये कान्हा
जरा सी तान सुना के कहा गए कान्हा,
सुना के अपनी मुरलियां काहा गये कान्हा

हमे कहा था के जाओगे लौट आओ गे,
दिलो में आस जगा के कहा गए कान्हा,
जरा सी तान सुना के कहा गए कान्हा,
सुना के अपनी मुरलियां काहा गये कान्हा

वही कदम है यमुना का वही पानी है,
दिलो में प्रीत जगा के कहा गए कान्हा,
जरा सी तान सुना के कहा गए कान्हा,
सुना के अपनी मुरलियां काहा गये कान्हा

तुम्हारी याद में जीते है और न मरते है ,
हमारा चैन चुरा के कहा गए कान्हा,
जरा सी तान सुना के कहा गए कान्हा,
सुना के अपनी मुरलियां काहा गये कान्हा

तुम्हारे बाद न खेला रंग होली में
तुमें ऐसा रंग चडा के कहा गए कान्हा,
जरा सी तान सुना के कहा गए कान्हा,
सुना के अपनी मुरलियां काहा गये कान्हा

One thought on “suna ke apni murliyan kaha gaye kanha

Leave a Reply