so satguru pyara mere naal hai jithe kithe mainu lae chadaai

सो सतगुरु प्यारा मेरे नाल हैं,
जिथे किथे मैनु लै छडाइ,

तिस गुरु कौ हौ वारिया,
जिन हर की हर कथा सुनाई,
तिस गुरु को सद बल हारनै,
जिन हर सेवा बड़त बड़ाई,
सो सतगुरु प्यारा मेरे नाल हैं…

तिस गुर कौ शाबाश हैं,
जिन हर सो जी पाई,
नानक गुर वीटो वारया
जिन हर नाम दिया,
मेरे मन की आश पुराई,
सो सतगुरु प्यारा मेरे नाल हैं…

Leave a Comment