श्यामा थारा घूंघर वाला बाल,जीव मेरो भरमायो जी मदन गोपाल
श्यामा थारा घूंघर वाला बाल….

शयामा थारा चंचल नैन विशाल,
भूल कदे ना जायोजी,मदन गोपाल
श्यामा थारा घूंघर वाला बाल……

श्यामा थारे फेंटे को रंग अनार,
चोखो तीर चलायोजि मदन गोपाल
श्यामा थारा घूंघर वाला बाल…..

श्यामा थारे बागे की अजब बहार,
नैना धीर गमायोजी ,मदन गोपाल
श्यामा थारा घूंघर वाला बाल…..

श्यामा थारा निरख निरख सिणगार,
फूलो नाइ समायो जी मदन गोपाल
श्यामा थारा घूंघर वाला बाल…..

श्यामा महारे हिवड़े मालो हार,
आशा लेकर आयोजि मदन गोपाल
श्यामा थारा घूंघर वाला बाल…..

श्यामा थे हो भगता रा सरदार,
नैया पार लगाओजी,मदन गोपाल
श्यामा थारा घूंघर वाला बाल…..

श्यामा महान चाकर रखो थारे द्वार,
सांवरियो मन भायोजी मदनगोपाल
श्यामा थारा घूंघर वाला बाल…..

श्यामा थे हो घर घर जावन हार
बेगा आप पधारोजी मदन गोपाल
श्यामा थारा घूंघर वाला बाल…

श्यामा थारो सेवक काशीराम,
जल्दी दरश दिखाओजी मदन गोपाल
श्यामा थारा घूंघर वाला बाल…..

खाटू श्याम भजन