shri ram ko rijaiyee tn sindhur lgaaiye

श्री राम को रिझाऐ तन सिन्दूर लगाऐ ,
ओर नाच दिखाऐ हनुमान ओ गाके राम नाम गुणगान ,
गाके राम नाम गुणगान
सियाराम जी के , है वो भक्त निराले
जय हो जय सियाराम…….

हाथो मे घोटा , पहने तन पे लगोंटा
जिसका नाम जपे उनको दिल मे है रखता
बजरंग बाला , है मतवाला ओ जपता राम की माला

संकट को काटे , झोली भर भर के बाटें
जो भी मागें सो पाते दर से खाली ना जाते
संकटहारी , शिवअवतारी माता अंजनी का लाला

सालासर वाले बाबा महेंन्दीपुर वाले
तेरी ज्योत जगे तेरी महिमा है गाते
दर्शन करते शिश झुकाते बाबा राम गुण गाते

हनुमान भजन