शिर्डी के राजा का भी कृपा नजरिया
दुखिया पे डालना रे हो साई बाबा
हो ..हो..
शिर्डी के राजा का भी कृपा नजरिया ,
दुखिया पे डालना रे…
साई नमन की तुम हो आखो के तारे,
बाबा के लाल न रे….हो शिरडी वाले

तोहरे मंदिरवा की बनके पुजारी
टूक टूक देखु सुरतिया तुम्हारी
दर्शन कि भिक मिले इच्छा हमारी
खाली न टाल न रे हो शिर्डी वाले

राम कसम तोहि राम दोहाई
छोटी अरज लेके चरणों मे आई
बाबा की उदी मेरी आँखों का सुरमा
आखो में डालना रे हो शिर्डी वाले

आखो में कजरा मेरे बालो में गजरा
पईया में घुंगरू मेरी लचके कमरिया
नाचूंगी निम तले ऐ मेरे साई
जुमे नगरिया रे हो साई बाबा

शिर्डी के राजा का भी कृपा नजरिया
दुखिया पे डालना रे ..