साई के दीवाने को ईद मानाने दो,
बाबा को आना है दीये दिल के जगाने दो,
साईं के दीवानों को अब ईद मनाने दो,

क्या अर्ज करू तुमसे हालत जो हमारी है,
हम दर्द के मारे है किस्मत ये हमारी है,
जो हम पे गुजर ती है रो रो के सुनाने दो,
बाबा को आना है दीये दिल के जलाने दो….

ये चम्पा चमेली है,
खुशियों की सहेली है,
क्या बात कहे तुमसे ये बात पहेली है,
आंगन में महक आये खुसबू फ़हलाने दो,
बाबा को आना है दीये दिल के जगाने दो,

शिर्डी की नगरी में क्या नूर बरसता है,
इक बार तो जा पागल क्यों यु तरसता है,
हमसर का कहना है शिर्डी तो आने दो,
बाबा को आना है दीये दिल के जगाने दो,

One thought on “sai ke diwano ko eid mannane do

Leave a Reply