sahnu maiya ji de charna da din raat sahara hai

साहनु मैया जी दे चरना दा दिन रात सहारा है,
जो मांगिये ओ मिल जांदा ऐसा दाती दा द्वारा है,
साहनु मैया जी दे चरना दा दिन रात सहारा है,

कदे लोड नहीं पेंदी दर दर तो मंगने दी,
जिह्ना मियां कोलो मिल जावे मेरा ओसे च गुजारा है,
साहनु मैया जी दे चरना दा दिन रात सहारा है,

दर वेखे बड़े दाती तेरी शान निराली है,
तेरे मंदिरा दी रौनक दा माये वखरा नजारा है,
साहनु मैया जी दे चरना दा दिन रात सहारा है,

तेरे कदमा च मैं जीवा तेरे कदमा च मर जावा,
तेरे कदमा च फिर आवा जे कोई जन्म दोबाराहै,
साहनु मैया जी दे चरना दा दिन रात सहारा है,

दीपक ते माये तू बड़ा कर्म कमाया है,
पहला कोई न पुछदा सी आज ओ तेरा दुलारा है,
साहनु मैया जी दे चरना दा दिन रात सहारा है,

Leave a Comment