sab kuch diya prabhu ne phir bhi nhi hai

सब कुछ दिया प्रभु ने फिर भी सबर नहीं है,
ज़िंदगी की सोचते है पल की खबर नहीं है,
सब कुछ दिया प्रभु ने……..

प्रभु के इशारे से तो दुनिया है सारी चलती,
ये तन और दौलत विक्शा से उसके मिलती,
फयदा नहीं है ईशा इंसानियत नहीं है,
सब कुछ दिया प्रभु ने ……..

आये गा वक़्त आखिर सारा हिसाब होगा,
कर्मो का अपने तेरे फिर क्या जवाब होगा,
तड़पे गा वो भी इक दिन प्रभु का दर जो नहीं है
सब कुछ दिया प्रभु ने ………

किस्मत में जो लिखा है सब कुछ मिला है हम तो,
समय आने से तो पहले कुछ नाम लेगा हम तो,
जयदा सोच न बंदे तेरे तो बस नहीं है,
सब कुछ दिया प्रभु ने ……..

सब कुछ दिया प्रभु ने

Leave a Comment