rang chad gaye daati de jhumde masti de vich saare

रंग चढ़ गये दाती दे झूमदे मस्ती दे विच सारे,
ऊंची ऊंची शेरावाली दे ऊंची ऊंची माँ आंबे दे लौण्डे फिरन जैकारे,
रंग चढ़ गये दाती दे झूमदे मस्ती दे विच सारे,

मस्त मस्त जेहा समय हो गया कैसी मस्ती छाई,
सब भगता ते आंबे माँ रेहमत जाएं बरसाई,
आज मैया ने ओना ही ओना करलो दर्शन सारे,
रंग चढ़ गये दाती दे झूमदे मस्ती दे विच सारे,

सते भेना पींगा झुटन कैसा अज़ब नजारा,
जिस तकया ओ कर्मा वाला माँ दा भगत प्यारा,
माँ दा नाम ले तू भी तोड़ ले अम्बर तो तारे
रंग चढ़ गये दाती दे झूमदे मस्ती दे विच सारे,

नूरमेहलिया सूखा लिखदे गुलाम अली आज रोंदा,
माँ मेरी दी ऐसी महिमा सारा जग वाड्योंदा,
माँ दे चरनी आ गये आज ऐसी सारे कर्मा वाले,
रंग चढ़ गये दाती दे झूमदे मस्ती दे विच सारे,

Leave a Comment