ram janam bhumi par jaa kej eet ke deep jlaayege

राम जन्म पर भूमि पर जा कर घी के जीत जलाये गे,
कलयुग के रावण अब बेह से अपनी खैर मनाये गे,

राम अयोध्या जब लौटे जले थे दीपक घर घर में,
सिया राम के जैकारे भी गूंज उठे थे अम्बर में,
जा के अयोध्या दीवाली में फुलझड़ियां हम जलायेगे ,
कलयुग के रावण अब बेह से अपनी खैर मनाये गे,

देश के कोने कोने से जब भक्तो की टोली आएगी,
उनकी भक्ति की शक्ति से ये दुनिया अब थर रायेगी,
जय श्री राम का झंडा अब तो हर घर में लहराएगा,
कलयुग के रावण अब बेह से अपनी खैर मनाये गे,

Leave a Comment