राम दुलारे हनुमान सारी दुनिया में ऊंचा तेरा नाम है,

हे दुःख भन जन मारुती नन्द अंजनी के जाए,
इस कलयुग में भक्त जनो के तू ही संकट मिटाये,
तुम को पुकारे संसार,
नैया पार लगाना तेरा काम है,
राम दुलारे हनुमान…

मेहंदीपुर और सालासर में बाबा धाम तुम्हारे,
दर तेरे आके भकत जनो के बाबा होते गुजारे,
लीला है अप्रम पार गूंजे तेरे जयकारे आठो याम है
राम दुलारे हनुमान…

शिव अवतारी बजरंगी बाला तेरा कोई न साहनी,
तुम हो दयालु भरते हो दामन तुम सा कोई न दानी,
भरते सभी के भण्डार लागे कोड़ी नहीं और कोई धाम है,
राम दुलारे हनुमान…

Leave a Reply