राधे राधे तू श्याम से मिला दे वे तेरा केहड़ा मूल लगदा,
प्यासी अँखियाँ दी प्यास भुजा दे तू दर्श करा दे तेरा केहड़ा मूल लगदा,
मूल लगदा के तेरा केहड़ा मूल लगदा,

मीरा वांगु श्याम दी दीवानी होइ फिरदी,
लोकि मैनु कहन्दे मस्तानी होइ फिरदी,
मेरे मन वाली रीज पुगडे सिफारिश पा दे,
के तेरे केहड़ा मूल लगदा,

सारी ज़िंदगी ना भुला तेरे उपकार नु,
मिल जो गा चैन मेरे दिल बे करार नु ,
ठण्ड दबड़े कलेजे विच पा दे ते नसीब जगा दे,
के तेरा केहड़ा मूल लगदा….

श्याम दिया नटखट अदावा मन मोह लिया,
दिल मेरा मालो जोरि श्याम उते डोलियां,
निगहा गोनया लाड़ी उते पा दे तू कर्म कमा दे,
के तेरा केहड़ा मूल लगदा….

Leave a Reply