put nand te yashoda deya jaaya

पुत नन्द ते यशोदा देया जाया
तेरी कमली ने कमला बनाया

मैं सुणया कुब्जा ते डुल्या
मथुरा जाके गोकुल भुल्या
जैसे उसने की जादू पाया
तेरी कमली………

तेरे सिवा मेरा होर ना दर्दी
इक वारि कर श्यामा नज़र मेहर दी
छड दुनिया नु तेरे दर आया
तेरी कमली……..

आ मिल वे कमली देया साईया
सह ना सका मैं तेरिया जुदाईया
केह्डी गल तो है मुखडा छिपाया
तेरी कमली…….

Leave a Comment