o sanware ye to prem hai tumahara

जब से मिला मुझको श्याम तेरा दुवारा ये जीवन धन्य हो गया हमारा,
कितनो को माफ़ किया कितनो को तारा सँवारे ये तो प्रेम है तुम्हारा ,

भगति का रंग मुझपे चढ़ने लगा है चाहत में दिल ये तड़पने लगा है,
जाने कैसा जादू मुझपे चल गया तुम्हारा,
ओ सँवारे ये तो प्रेम है तुम्हारा ,

दुनिया के रिस्तो ने पल पल रुलाया बस तेरे चरणों में चैन आया,
हम बेसहरो का बन गए सहारा,
सँवारे ये तो प्रेम है तुम्हारा ,

मुरली की धुन मुझको पागल बनाये मन मेरा नाचे मग्न होके गए,
मुरली की तान सुन के झूमे जग सारा,
सँवारे ये तो प्रेम है तुम्हारा ,

Leave a Comment