निमी निमी तारियाँ दी लो,
पुजारियां ने बूहा खोलेया,
शेरा वाली /ज्योता वाली दा,
पुजारियां ने बूहा खोलेया,
निमी निमी तारियाँ दी लो,

उचियाँ सिंगाशना ते माई नु बिठा के,
चन्दन दा माये तेनु तिलक लगा के,
फुला दी महिके खुशबो,
पुजारियां ने बूहा खोलेया,
निमी निमी तारियाँ दी लो,

भवना दे वेहड़ेया च वजन नगाडे,
भगत प्रेमी बोलन माँ दे जयकारे,
ज्योता दी जगमग लोह,
पुजारियां ने बूहा खोलेया,
निमी निमी तारियाँ दी लो,

मंदिरा दी शोभा है जग तो न्यारी,
अंदर है बैठी मैयां शेर सवारी,
भवना दी शोभा है जग तो न्यारी,
गुफा विच बैठी मइयां आदि कुवारी,
चरना च गये हां खलो,
पुजारियां ने बूहा खोलेया,
निमी निमी तारियाँ दी लो,

हथ विच नारियल भेटा नु लै के ,
बंसी सितारा तेरे दर उते बेह के,
फडदा चरण माँ दे रो,
पुजारियां ने बूहा खोलेया,
निमी निमी तारियाँ दी लो,

Leave a Reply