narayaani ko jawab nhi pehla pujvaiyo jhunjhunu ji paache pujaayo dev sar ji

पहला पुजाइयो झुंझुनू जी पाछे पुजायो देव सर जी,
बाद में ढोकवा धाम नारायणी को जवाब नहीं,

सबसे पहला सांसरिये की घर घर ज्योत जगाई,
पाछे मूल स्थान पे दादी जी पुजवाई,
बाद में पीहरिये में आई ढोकवा धाम की शान बड़ाई,
झुक झुक करा परनाम नारायणी को जवाब नहीं

योगन सुहगन ससरिया को जग में मान बढ़ावे,
वीके पेहरिये में सुन लो दुःख कदे न आवे,
दादी जी की राह पे चलो जी,
जो कहे दादी वही करो जी,
होव गो निज कल्याण दादी को जवाब नहीं,

झुंझुनू देवसर ढोकवा दादी ने लागे प्यारो,
.जो भी करे तीनो का दर्शन हॉवे वारो न्यारो,
भक्ति मिलेगी शक्ति मिले गी,
नाम जपो गे तो शक्ति मिले गी,
गावे है महिमा श्याम नारायणी को जवाब नहीं

नारायणी को जवाब नहीं

Leave a Comment