naam prabhu da jap bandeya dhan dolat da maan na kairye akhir jana mar bandiya

नाम प्रभु दा जप बंदेया,धन दौलत दा मान न करिये,
आखिर जाना मर बंदेया,नाम प्रभु दा जप बंदेया

नाम जपन नु जीबा दिति हरी दर्शन को अखि,
इक इक स्वांस अमोलक जावे हाथ न आव लखि,
मानस जन्म अमोलक पाया जपके सफला कर बंदेया,
नाम प्रभु दा जप बंदेया……

जिस देह नु देवते लोड़न सो देहि तुम पाई,
सच दी नेक कमाई कर ले मुकत हॉवे गा भाई,
नाम जपना ते वंड के छकना गन चँगाईयाँ कर बंदेया,
नाम प्रभु दा जप बंदेया……….

दर दर ते तू भटक न बंदे इक ईश्वर दा होजा,
न साई दा सिमर सिमर के मलजन माँ दा दूजा,
हीरे जैसा जन्म है तेरा कोड़ी मूल न कर बंदेया,
नाम प्रभु दा जप बंदेया…….

छड़ दे बंदेया झूठे दी पूजा नाल किसे ने नहीं जाना,
इको राम नहीं कोई दूजा कर उसदा शुकराना,
नाम अमोलक गुरु जी दा जप ला भवसागर जाए तर बंदेया,
नाम प्रभु दा जप बंदेया

Leave a Comment