मुडिया जोगिया मैं मारी तेरियां गमा दी,
हाल वे रबा मैं लुटी तेरियां गमा दी,
मुडिया जोगिया मैं मारी …..

तेरे बिन ना पेंदियाँ पानी भुखियाँ फिरदियाँ गईयाँ,
बाल खिलारे रत्नों फिरदी देख ले वांग शुदाईयाँ,
मारी तेरियां गमा दी,
मुडिया जोगिया मैं मारी ……..

दिलो न तेनु भोली लाइ दिलो न लाइयाँ ताहना,
कलम कला तुर गया आपे बनके पूत बेगाना,
मारी तेरियां गमा दी,
मुडिया जोगिया मैं मारी ……..

इधर कनका उपर कनका विच कनका दे मेथी,
माँ पे कदे न बदलन सारी दुनियां बदलदी देखि,
मारी तेरियां गमा दी,
मुडिया जोगिया मैं मारी ……..

जे माँ दा हॉवे लाल गुआचा चैन किवे ओहनू आवे,
जिदा मेनू स्ताउन्दा वे तेनु तेरियां याद सतावे,
मारी तेरियां गमा दी,
मुडिया जोगिया मैं मारी ……..

अशवनी वर्मे नु भगता ने जा के गल सुनाई,
मंदिर अन्दर आया जोगी जा के भेटा गाई
मारी तेरियां गमा दी,
मुडिया जोगिया मैं मारी ……..

Leave a Reply