मेरी मैया का लगा दरबार आज मोरे अंगनां में,
आज मोरे अंगनां में,आज मोरे अंगनां में,
शेरांवाली का लगा दरबार आज मोरे अंगनां में,

चंदन की चौकी पर माँ को बिठाओ,
माँ को निहारूँ बारम्बार,आज मोरे अंगनां में,
मेरी मैया का………..

लाल लाल चोला शेरांवाली माँ पहने,
लाल चुनरी लहराये बार बार,आज मोरे अंगनां में,
मेरी मैया का………

फूलों की माला मेरी मैया जी पहने,
हीरे मोती जड़े बेशुमार,आज मोरे अंगनां में,
मेरी मैया का………..

Leave a Reply