मेरी माँ तो चंगा कोई नहीं,
झंदेवाली तो चंगा कोई नही,
जेह्रडी रखदी सब दा ख्याल,
जिहने लाया चरना नाल,
जेह्डी दिगदे लवे सम्बाल,
जेह्डी संकट देंदी टाल,
मेरी माँ तो चंगा कोई नहीं

जेह्डी डुबदे देंदी तार,
जेह्ड़ी सब दी लेंदी सार,
करदी भव सागर चो पार,
करदी बचेया दे नाल प्यार,
मेरी माँ तो चंगा कोई नहीं

जेह्डी सब दे दिला दियां जाने,
जेह्डी खोटे खरे पहचाने,
जिस दी माया कोई न जाने,
जिस ने बख्शे सुहे बाने,
मेरी माँ तो चंगा कोई नहीं

जिस दे खुले रहने द्वारे,
जेह्डी सब दे भरे भंडारे ,
जेह्डी सब दे काज संवारे,
जिस दी हर पासे जयकारे,
मेरी माँ तो चंगा कोई नहीं

जिस दा हिरदा बड़ा विशाल,
जिस दी जग विच नही मिशाल,
जेह्डी दुश्ता दे लई काल,
जिस दे झंडे झूलन लाल,
मेरी माँ तो चंगा कोई नहीं

जय है अष्ट भुजावा वाली,
जय हो सारे जग दी वाली,
जिस दे दर तो कोई सवाली,
चंचल कदे न मुड़ेया खाली,
मेरी माँ तो चंगा कोई नहीं

दुर्गा भजन

Leave a Reply