meri bhakti tu meri shkati tu main kuch bhi nhi prabhu sab kuch tu

मेरी भक्ति तू मेरी शक्ति तू
में कुछ भी नही प्रभु सब कुछ तू

मेरे प्रभु है जिनवर है जिनवर
तेरी जय जय जय जय हो……….

पूजा भक्ति हम करेंगे
मन मे भक्ति भाव लिए
है प्रभु मेरे आदि जिनेश्वर, है प्रभु मेरे आदिनाथ

श्वेताम्बर हो या हो दिगम्बर हम जैनी बस जैन है
हम तो है अनुयायी प्रभु श्री आदिनाथ महावीर के
हम करेंगे खूब भक्ति और भजन मन जोड़ के

पूजा भक्ति हम करेंगे
मन मे भक्ति भाव लिए
है प्रभु मेरे आदि जिनेश्वर, है प्रभु मेरे आदिनाथ

हम में हो भक्ति हम में ही शक्ति हमसे ही कल्याण है
जैन हम और जैन तुम, महावीर की संतान है
हम बनेंगे एक शक्ति, पंथ भेद को छोड़ के

पूजा भक्ति हम करेंगे
मन मे भक्ति भाव लिए
है प्रभु मेरे आदि जिनेश्वर, है प्रभु मेरे आदिनाथ

जैन भजन