मौजा लुटी जांदे ने बाबे दे भगत प्यारे,
माँ रतनो दा लाडला नही लाउंदा किसे नु लारे,
हो मौजा मौजा लुटी जांदे ने………

सतिगुरु मेरा सिंगियाँ वाला सब दे मेहरा करदा ऐ,
जेह्डा ओहदे दर ते आवे खाली झोलियाँ भरदा ऐ,
किसे चीज दी थोड ना आवे खुले पये भंडार,
हो मौजा मौजा लुटी जांदे ने………

शाह्तालैयाँ लगियां मेला जगमग हुंडी चारे पासे,
खुशियाँ दे विच नच्दे आ के बड़े प्यारे लगदे ने,
माधोपुरियां दीप भी लाउंदा गुफा ते आन जयकारे,
हो मौजा मौजा लुटी जांदे ने……..

Leave a Reply