मन मोहन सुन्दर श्याम,समराथल आ जाना
भक्तो का कष्ट मिटाय,आनन्द मोहे कर जाना

नरसिलो करे पुकार,भात मोहे भर जाना
टीटोङी करे पुकार,बच्चा मेरा बच जाना

द्रोपदी करे पुकार,चीर मेरो बढ जाना
बाई मींरा करे पुकार,श्याम धणी आ जाना

भंगवी टोपी के श्याम,समराथल आ जाना
मरू धरा रे मांय,ज्योति जगा जाना

कृष्ण भजन