मैनु हिचकी आ रही है लगदा माँ भुला रही है,
ओहदा दिल नहीं लगदा होना मैनु ता भुला रही है,
मैनु हिचकी आ रही है लगदा माँ भुला रही है,

माँ नाल दिल दे तार जुड़े ने मैनु आवाज आइया ने,
छेती छेती जा मिला मैं माँ ने उडीका लाइए ने,
झंडिया/शेरावाली ऊंची कर के माँ भुला रही है,
मैनु हिचकी आ रही है लगदा माँ भुला रही है,

माँ नाल मिलियाँ मैनु हूँ ता होया समाए बथेरा ए,
दूरियां वाली धूपत तो डर के दिल गबराया मेरा है,
उसदी ममता वाली ठंडी छा भुला रही है,
मैनु हिचकी आ रही है लगदा माँ भुला रही है,

माँ न मेरा नाता रंपि सारे जग तो ख़ास है,
माँ है जो भी केहन्दी मैनु हो जनदा एहसास है,
आजा सागर लेके मेरा ना भुला रही है,
मैनु हिचकी आ रही है लगदा माँ भुला रही है,

Leave a Reply