main kya jaanu bhkti kya hai maine to prem kiya hai

मैं क्या जानू भक्ति क्या है मैंने तो प्रेम किया है,
आओ साई मैंने तुमको दिल से याद किया है,
आओ ना तुम काहे को देर लगाई ,

तेरे भक्त हजारो लाखो मैं ना जानू पूजा,
किसको पुजू तेरे बिन आये नजर न दूजा,
तेरे प्रेम में सुबहो शाम धड़के मेरा जिया है,
आओ साई मैंने तुमको दिल से याद किया है,
आओ ना तुम काहे को देर लगाई ,

तेरे चरणों में संगम है क्यों मैं तीर्थ है जाऊ,
बस जाओ मेरे हिरदये में जब चाहु तब पाउ,
मेरी सांसो की सारंगी करती पिया पिया है,
आओ साई मैंने तुमको दिल से याद किया है,
आओ ना तुम काहे को देर लगाई ,

बुजा हुआ है दीपक मेरा साई आन जगाओ,
पल पल मरता मौत नई नित,
मुझको आन जिआओ,
अपने अश्को से हरष तेरा अभिषेक किया है,
आओ साई मैंने तुमको दिल से याद किया है,
आओ ना तुम काहे को देर लगाई ,

Leave a Comment