main diwani tere darshan ki he mere gopal

मैं दीवानी तेरे दर्शन की हे मेरे गोपाल,

मीठी है बाते तेरी सुनी है राते मेरी आती है याद जब जब विरहे ने आन घेरी,
सुना सुना जीवन लगता सुना लगे संसार,हे मेरे गोपाल,
मैं दीवानी तेरे दर्शन की हे मेरे गोपाल,

मेरे सपनो में आजा आके दर्शन दिखा जा,
लगी विरहे की अगनी आके जल्दी बुजा जा,
उजड़े चमन में हे मन मोहन बन के आउ बाहर,हे मेरे गोपाल,
मैं दीवानी तेरे दर्शन की हे मेरे गोपाल,

जीवन की शाम आई झेली लम्भी जुदाई,
प्रेम के रोग में न कोई मिलती दवाई,
मधुर श्याम दर्शन बिन तेरे मैं हो गई बीमार ,हे मेरे गोपाल,
मैं दीवानी तेरे दर्शन की हे मेरे गोपाल,

Leave a Comment