चेत महिना आया भगतो जा के दर्शन पाउना,
भगता छड दे मेरा राह मैं दर बाबे दे जाना,

इक दूजे तो वध के देखो भगत प्यारे जांदे,
रास्ते दे विच लंगर लगे मिल के ने सब खांदे
आपनी माई नाल सारे जांदे मैं भी लंगर खाना,
भगता मैं कहा भगता छड दे मेरा राह……..

मेरे वरगा भगत प्यारा पीछे न रह जावे,
ओहदी जोगी बांह फडदा जो जय बाबे दी गावे,
मुह चो बोल जयकारे भगता ओहने कर्म क्माउना,
भगता मैं कहा भगता छड दे मेरा राह……..

पोड़ी पोड़ी चड़दा जा जय बाबे दी करदा जा,
खुशियाँ दे नाल खाली झोली जोगी दे दर तो भरदा जा,
जोगी दाता मेरा खाली न मोड़े की जोगी दा कहना,
भगता मैं कहा भगता छड दे मेरा राह……..

माधोपुरियां वरगे आ गये लगे जोगी दे चरनी,
दीप कहे हूँ जोगी दे चरनी बेह के सेवा करनी,
चरना दे विच बह के भगता जोगी नु दुःख सुनाउना,
भगता मैं कहा भगता छड़ दे मेरा राह,….

Leave a Reply