मैं आऊ तेरे दुआरे माँ,
पाऊ दरस तुम्हारे माँ,
हो जाये जीवन सफल मेरा,
जब छुलू चरण तुम्हारे माँ……

जग जननी तेरे दुआरे ते जोत जगाने आया हु,
रस्ता है कठिन बड़ा मजल मंजिल आइया हु,
एक आशा तेरे दरसन दी,
मन में लगी हमारे माँ,
मैं आऊ तेरे दुआरे ………

बड़े बड़े पापी तारे
देर मेरी बारी है क्यों,
आशीर्वाद दे पार करो,
इतनी चुपी तारी क्यों,
करलो नैया पार मैया,
कर कर मिनता हारे,
मैं आऊ तेरे दुआरे……….

भुला भटका दुआरे तेरे,
जन परदेसी आ ही गया,
प्यास लगी तेरे दरसन दी
पा के प्यास बुजा ही गया,
मुझको भी अब तारो माँ,
जीवे लाखो तारे माँ,
मैं आऊ तेरे दुआरे …….

दुर्गा भजन