दूसरा कोई दुनिया में तुमसे कहा,
तू शहनशाओ की भी शहंशा है माँ,
झुकता सबका सिर मैया तेरे दर ऊचा सबसे माँ तेरा दरबार है,
लोक परलोक में राज है माँ तेरा तेरी सत्ता है माँ तेरी सरकार है,
सब की माता है तू सबकी दाता है तू आधी शक्ति है तू शक्ति अवतार है,

तू नजर सब पे करुणा की ढाले है माँ,
चींटी और हठी सबको तू पाले है माँ,
सारे भरमांड में जीव कोई नहीं,
तेरी ममता का जो न कर्ज दार है,
लोक परलोक में राज है माँ तेरा तेरी सत्ता है माँ तेरी सरकार है…

आधी शक्ति है तू तुझमे शक्ति अपार,
भय हीं है तू तू है माँ निडर,
दूर गुणों को हरे ना किसी से डरे,
मेहशासुर जैसे को भी दिया मार है,
लोक परलोक में राज है माँ तेरा तेरी सत्ता है माँ तेरी सरकार है..

Leave a Reply