kateele kale kale hai kanha tere nain

कटीले काले काले है कान्हा तेरे नैन,
नशीले मेह के प्याले है कान्हा तेरे नैन,

ये रहते है पलको की और,
करे दिल पे ये सीधी चोट,
रसीले मतवाले है कान्हा तेरे नैन,

मैं जब जब देखु तेरे नैन,
मेरा दिल हो जाता वेचैन,
छबीले नखराले है कान्हा तेरे नैन,

देख के इनका रंग और रूप,
गई तेरे नैनो में डूभ,
नुकीले कजरारे है कान्हा तेरे नैन,

नैन पे रीना हुई कुर्बान,
अनाड़ी करता है गुणगान,
हटीले भोले भाले है कान्हा तेरे नैन

कृष्ण भजन

Leave a Comment