kaisa chaya kawadiyo pe rang kawad utha ke chle

कैसा छाया कावड़ियों पे रंग कावड़ उठा के चले
जो कावड़ उठा के चले ये बम बम गाते चले,
पी ली भगतो ने थोड़ी सी भंग झूमते नाचते चले,
कैसा छाया कावड़ियों पे रंग कावड़ उठा के चले

कोई बोले हर हर कोई बोले हर हर बम बम,
वेद नाथ बाबा हर लेंगे सारे गम,
देखो ढोल नगाड़े बाजे साथ शिव को मनाते चले,
कैसा छाया कावड़ियों पे रंग कावड़ उठा के चले

रंग बिरंगी कावड़ सजा के पाँव में घुंगरू छम छम बजा के,
थामे इक दूजे का हाथ साथ निभाते चले,
कैसा छाया कावड़ियों पे रंग कावड़ उठा के चले

सावन की है रुत मस्तानी,
मेरे भोले बाबा की दुनिया दीवानी,
पाछे गंगा जल है साथ शिव को चढ़ाने चले,
कैसा छाया कावड़ियों पे रंग कावड़ उठा के चले

देख प्रेम की तू अध् मत जाना बढ़ते जाना,
भोले को है तुम्हे जल चढ़ाना,
गिरी बिगड़ी बने गी हर बात सिर को झुकाते चलो,
कैसा छाया कावड़ियों पे रंग कावड़ उठा के चले

watch music video song of bhajan

शिव भजन