kadi meri vii tu rakh le laaj datiye

तू दुनिया दे सिद्ध किते काज दातिये,
कदी मेरी वी तू रख ले लाज दातिये,

गिन गिन चडी है चडाई कई वार माँ,
केहड़ा है कसूर मेरा सुनी न पुकार माँ,
खता मेरी की ऐ मैं तू दस दातिये,
कदी मेरी वी तू रख ले लाज दातिये,

भेंट चडाई तेनु छतर वी चडाया माँ,
कंजका बिठाईया तेरा जागरण वी कराया माँ,
किस्मत दा चड़ा दे तू जहाज दातिये,
कदी मेरी वी तू रख ले लाज दातिये,

खोता पूत जानके ही मेनू अपना ले माँ,
भगता दे परिवार नु तू अपना बना ले माँ,
रख सिर उते मेरे अपना तू हथ दातिये,
कदी मेरी वी तू रख ले लाज दातिये,

Leave a Comment