जिसे विश्वास नहीं तेरा हनुमान,
उसको शरण नहीं लेते श्रीराम,

राम ही राम बस राम ही राम,
आगे आगे राम, तेरे पीछे पीछे राम,

राम ही राम बस राम ही राम,
आगे आगे राम, तेरे पीछे पीछे राम,

राम के दीवाने तेरी सच्ची है लगन,
राम के भजन में तू रहता मगन,
तेरे जैसा भगत श्रीराम का नहीं,
राम के सिवा किसी को मानता नहीं,
राम ही राम बस राम ही राम,
जिसे विश्वास नहीं तेरा हनुमान,
उसको शरण नहीं लेते श्रीराम,
राम ही राम बस राम ही राम,

रात दिन सेवा करे श्रीराम की,
लाल तुझे मानती थी मात जानकी,
माँ ने वरदान दियां खुश हो गया,
भगतों में भगत शिरोमणि हो गया,
राम ही राम बस राम ही राम
जिसे विश्वास नहीं तेरा हनुमान,
उसको शरण नहीं लेते श्रीराम,
राम ही राम बस राम ही राम,

दुनियाँ में है नहीं ऐसा कोई काम,
जिसे कर पाये नहीं मेरे हनुमान,
जिसे विश्वास नहीं तेरा हनुमान,
उसको शरण नहीं लेते श्रीराम,
राम ही राम बस राम ही राम
जिसे विश्वास नहीं तेरा हनुमान,
उसको शरण नहीं लेते श्रीराम,
राम ही राम बस राम ही राम,

Leave a Reply