japoge tum to shiv ji aayenge

नमः शिवाय नमः शिवाय, नमः शिवाय नमः शिवाय ।
जपोगे तुम तो शिव जी आएंगे लगन लगा मेरे मन ।।

शीश जटा गंगा चंद्र तिलकधारे,देवों में महादेव सबसे अलग न्यारे ।
सर्पों की माला पहिरे बाघम्बर,हाथ त्रिशूल डमरू भस्मांग दिगंबर ।।
भवानी को भी संग में लायेंगे… लगन लगा मेरे मन…जपोगे…

हर हर शिव शंभू जो निशदिन बोले,पाप त्रिविध हरते भव बंधन खोलें ।
पास नहीं कुछ भी हर शय के दाता, अपने बच्चों के एक पिता माता ।।
तुम्हें भी चलना वो सिखाएंगे… लगन लगा मेरे मन…जपोगे…

एक शिकारी को बन में रोता देख,दे अपनी भक्ति बदल दिया प्रभु वेश ।
जो है जीवन में प्रेम भगत की आस, धारण कर मन में तू सच्चा विश्वास ।।
के दास दर्शन वो दिखाएंगे… लगन लगा मेरे मन…जपोगे…

Leave a Comment