jab bhkt nhi honge bhagwan kaha honge

जब भक्त नहीं होंगे भगवान कहाँ होंगे,
हर इक समस्या के समादन कहा होंगे,

दानी भी हुए लाखो और दान भी होता है,
पर कन्याओ जैसे महादान कहा होंगे,

मेहमान भी आते है मेहमानी भी होती है,
सुदामा के जैसे मेहमान कहा होंगे,
जब भक्त नहीं होंगे भगवान कहाँ होंगे

प्रेमी भी हुए लाखो और प्रेम भी होता है,
मीरा के प्रेम जैसे प्रमाण कहा होंगे,
जब भक्त नहीं होंगे भगवान कहाँ होंगे

ग्यानी भी हुए लाखो और ज्ञान भी होता है ,
गुरु देव नहीं होंगे तो ज्ञान कहा होंगे ,
जब भक्त नहीं होंगे भगवान कहाँ होंगे

Leave a Comment