hume jana hai re bhaiyan mehar ki or

कोई तो बता दे डगरियाँ हमे जाना है रे भईया मेहर की और,

पर्वत ऊपर बनो है दिवाला,
ऊंची ऊंची सीडीया तोरी,
हमे जाना है रे भइयाँ मेहर की और,

मेहर वाली शरधा माता शरधा माता हां शरधा माता,
तेरी महिमा है निराली,
हमे जाना है रे भाइयाँ मेहर की और,

चार बजे माँ आला आवे आला आवे माँ आला आवे,
रुच रुच खोल कवरियां हमे जाना है रे भईया मेहर की और,

शरधा माँ तेरे शान निराली,
ममता मई माँ की मूरतिया,
हमे जाना है रे भईया मेहर की और,

Leave a Comment