होवेगी जरूर किरपा मेरे श्याम की तुम देखना ,
करेगे खाटू के श्याम कर्म तुम देखना,
होवेगी जरूर किरपा मेरे श्याम की तुम देखना ,

जब खाटू श्याम मुझपे किरपा करेंगे खुशियों से बाबा मेरी झोली भरेगे,
आँखे फिर कभी न मेरी नम देखना,
होवेगी जरूर किरपा मेरे श्याम की तुम देखना ,

करो अतवार भव से पार होगी नैया
आएंगे श्याम धनि बन के खिवईयाँ,
वहां भी रहे गा मेरा भरम देखना,
होवेगी जरूर किरपा मेरे श्याम की तुम देखना ,

सुख हो या दुःख हो मैं हस के सहूँगा,
सेवक उनका सदा सेवक रहुँगा,
शाम चरणों में ये सिर हम देखना,
होवेगी जरूर किरपा मेरे श्याम की तुम देखना ,

योनी चाहे कोई भी होइ इसे नहीं मतलब,
येही होगा भाग मेरा यही होगी किस्मत,
दास वो बनायेगे हर जन्म देखना,
होवेगी जरूर किरपा मेरे श्याम की तुम देखना

One thought on “hovegi jarur kirpa mere shyam ki tum dekhana

Leave a Reply