होली खेलन राधा आई रे आओ श्याम बिहारी,
श्याम बिहारी घनश्याम बिहारी,
रुत रंगा की आई रे आओ श्याम बिहारी,
होली खेलन राधा आई रे………

घिस घिस केसर रंग बनाया,
भांत भांत का इतर मिलाया,
दिल में उमींगे छाई रे,
आओ श्याम बिहारी,
होली खेलन राधा आई रे………

ग्वाल बाल सब सखियाँ आई,
कह नवी को श्याम कन्हाई,
अपना होश समाई रे,
आओ श्याम बिहारी,
होली खेलन राधा आई रे………

आज श्याम नहीं बच पाओ गे,
छुप कर हमसे किट जाओगे,
नंदू अर्ज लगाई रे,
आओ श्याम बिहारी,
होली खेलन राधा आई रे…….

Leave a Reply