जोगियां जोगियां रे हे मेरे जोगिया,
यु न बड़ा दूरिया,भक्ता के तू नजदीकियां रे,

हे विद्याता मेरे तुम हो दाता मेरे,
हु सहारे तेरे पिछला नाता मेरे,
माना मुझमे बड़ी खामिया,
जोगियां जोगियां …..

जन्मो का भिखरा ये जीवन सफर,
अब जर्रे को कैसे ये आये नजर,
हो कर्म तो मिले कोकियाँ,
जोगियां जोगियां……

बड़के सूरज से तेरी कही रोशनी,
यहाँ दर पाते है और अँधेरी गली,
कब सुनु गा तेरी बोलियां,
जोगियां जोगियां ………

मैं कहा तक खोजू जहां में तुझे,
तुम हो मुझमे मैं तुझमे बताओ मुझे,
तेरे मिलने की मंजूरियां,
जोगियां जोगियां ,………

Leave a Reply