इस मन मंदिर में बस जाओ मुझ निर्बल का उद्दार करो ॥

हे अंजनी पुत्र हे मारुती इतनी बिनती सवीकार करो ।
इस मन मंदिर में बस जाओ मुझ निर्बल का उद्दार करो ॥

मैंने तो सुना है हे हनुमंत तुम दुखियों के दुःख हर्ता हो,
आ जाए कोई जो तुम्हारी शरण बन जाते तुम सुख करता हो ।
दुःख के इस जीवन सागर से मेरी नैया भी पार करो,
हे अंजनी पुत्र हे मारुती इतनी बिनती सवीकार करो ॥

तुम एक उद्धारण हो जग में श्री राम की सच्ची भक्ति का,
आशीष मुझे भी दे दो प्रभु सच्ची सेवा की शक्ति का ।
मैं आपका सेवक बन पाऊं मेरा सपना साकार करो,
हे अंजनी पुत्र हे मारुती इतनी बिनती सवीकार करो ॥

भक्तों की बिगड़ी बनाने को तुम पवन वेग से चलते हो,
वेदों में लिखा वह पड़ा मैंने तुम रूप अनेक बदलते हो ।
मेरे रोम-रोम जो बस जाये वो रूप स्वीकार करो,
हे अंजनी पुत्र हे मारुती इतनी बिनती सवीकार करो ॥

आजाओ कभी मेरे घर भी पावन दर्शन मैं कर लूँगा,
धो धो के चरण गंगा जल से प्रभु चरणामृत मैं पी लूँगा ।
मेरा सोचा सच हो जाए प्रभु ऐसा मुझ पर उपकार करो,
हे अंजनी पुत्र हे मारुती इतनी बिनती सवीकार करो ॥

हे पवन पुत्र केसर नंदन तुम ही जग के रखवारे हो,
तुम अज़र-अमर-बलशाली हो सिया राम लखन के प्यारे हो ।
श्री राम से आशीष ले-लेकर मुझ पर उसकी वयोछार करो,

he anjani putra he maruti itni binti svikaar karo

he anjani putr he maaruti itani binati saveekaar karo
is man mandir me bas jaao mujh nirbal ka uddaar karo ..


mainne to suna hai he hanumant tum dukhiyon ke duhkh harta ho,
a jaae koi jo tumhaari sharan ban jaate tum sukh karata ho
duhkh ke is jeevan saagar se meri naiya bhi paar karo,
he anjani putr he maaruti itani binati saveekaar karo ..

tum ek uddhaaran ho jag me shri ram ki sachchi bhakti ka,
aasheesh mujhe bhi de do prbhu sachchi seva ki shakti kaa
mainaapaka sevak ban paaoon mera sapana saakaar karo,
he anjani putr he maaruti itani binati saveekaar karo ..

bhakton ki bigadi banaane ko tum pavan veg se chalate ho,
vedon me likha vah pada mainne tum roop anek badalate ho
mere romarom jo bas jaaye vo roop sveekaar karo,
he anjani putr he maaruti itani binati saveekaar karo ..

aajaao kbhi mere ghar bhi paavan darshan mainkar loonga,
dho dho ke charan ganga jal se prbhu charanaamarat mainpi loongaa
mera socha sch ho jaae prbhu aisa mujh par upakaar karo,
he anjani putr he maaruti itani binati saveekaar karo ..

he pavan putr kesar nandan tum hi jag ke rkhavaare ho,
tum azaramarabalshaali ho siya ram lkhan ke pyaare ho
shri ram se aasheesh lelekar mujh par usaki vayochhaar karo,
he anjani putr he maaruti itani binati saveekaar karo ..

he anjani putr he maaruti itani binati saveekaar karo
is man mandir me bas jaao mujh nirbal ka uddaar karo ..

Watch Video he anjani putra he maruti itni binti svikaar karo Bhajan Lyrics

One comment

Leave a Reply