hath jab se hai ser pe tumhara sanware ho raha hai mje se gujara sanware

हाथ जबसे है सिर पे तुम्हारा सांवरे,
हो रहा है मजे से गुजारा सँवारे,
बोलो श्याम श्याम बोलो श्याम श्याम,
जय जय श्याम,

सोच मैं क्यों करू मेरे घर बार की,
चिंता रहती तुम्हे मेरे परिवार की,
मुझको हर गम से तुमने उभरा सँवारे,
हो रहा है मजे से गुजारा सँवारे…..

कैसे मोहन करू मैं तेरा शुकरियाँ,
झोली छोटी पड़ी तूने इतना दिया,
मेरा जबसे बना तू सहारा सँवारे,
हो रहा है मजे से गुजारा सँवारे,

जबसे आंसू मेरे तेरे आगे गिरे,
तेरी किरपा से दिन तब से मेरे फिर,
तूने ऐसा मुकदर संवारा सँवारे,
हो रहा है मजे से गुजारा सँवारे,

Leave a Comment