गुरा दा जनम दिहाड़ा आया सब ने चावा नाल मनाया,
मैं भी दिंदा हां वदाहियाँ सब नु हाथ जोड़ के,
ताहियो लगन जयकारे हर गली मोड़ ते,

सेवा करन च संगता ने कोई कसर न छड़ी,
एक दूजे तो सोहनी शोभा यात्रा कड़ी,
पुरे देश विच रख ता रिकॉर्ड तोड़ के
ताहियो लगन जयकारे हर गली मोड़ ते,

था था ते सतिगुरु दे नाम दे लंगर लाये,
दी जे ला के कइयाँ ने है भंगडे पाये,
लोकी देख के हैरान अज साड़ी तोर ते,
ताहियो लगन जयकारे हर गली मोड़ ते,

सोका रहिये वाला लिखा सतगुरु दी वडयाई,
दसा मोहा विच मेरे मालक सब दे वरकता पाई,
रोशन मल गावे महिमा हाथ जोड़ के
ताहियो लगन जयकारे हर गली मोड़ ते,

Leave a Reply